राजस्थान में मुख्यमंत्री पद को लेकर रस्साकशी, गहलोत व पायलट के समर्थकों ने की नारेबाजी



राजस्थान में सत्ता के जादुई आंकड़े को पार करने के बाद कांग्रेस में मुख्यमंत्री पद को लेकर चल रही रस्साकशी तेज हो गई है। हालांकि इस रस्साकशी में "किसान और जाट' मुख्यमंत्री को लेकर लॉबिंग कर रहे राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी तो चुनाव हार गए, लेकिन दो प्रबल दावेदार कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अशोक गहलोत और पीसीसी अध्यक्ष सचिन पायलट भारी मतों से चुनाव जीते हैं। दोंनों नेताओं ने चुनाव परिणाम आने के बाद विधायकों से संपर्क साधा है। दोनों नेताओं ने टिकट नहीं मिलने पर बागी होकर चुनाव जीतने वाले तीन निर्दलीय विधायकों से भी बात की है। गहलोत और पायलट के समर्थक अपने-अपने नेता के लिए लॉबिंग में जुटे हैं। उधर, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कांग्रेस विधायक दल के नेता के चुनाव के लिए सांसद केसी वेणुगोपाल को पर्यवेक्षक नियुक्त किया है। कांग्रेस विधायक दल की बै क में बुधवार को जयपुर में केंद्रीय पर्यवेक्षक केसी वेणुगोपाल और राष्ट्रीय महासचिव अविनाश पांडे ने विधायकों से फीडबैक ली। बै क में आलाकमान पर फैसला छोड़ा गया है। अब राहुल गांधी ही यह तय करेंगे कि राजस्थान का सीएम कौन होगा। वहीं, अशोक गहलोत एवं सचिन पायलट के समर्थकों ने नारेबाजी की। कांग्रेस आज शाम राज्यपाल के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश करेगी।






Comments



Leave a Comment